[T-20 World Cup 2022] | सेमीफाइनल और फाइनल के लिए ICC ने नए नियम बना दिये

 टी-20 वर्डकप 2022 के सुपर-12 ग्रुप मुकाबलों का दौर अब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच गया है, 6 नवंबर को ग्रुप चरण के आखिरी मुकाबले खेले जाएंगे।

इसके बाद 9 व 10 नवंबर को सेमीफाइनल के 2 मुकाबले खेले जाने हैं और 13 नवंबर को फाइनल मुकाबला होगा।


t-20-semifinal-new-rules


ICC ने भी इन नॉकआउट मुकाबलों में बारिश या अन्य कारणों से परिणाम न निकलने की स्थिति मे जीत-हार का निर्णय कैसे किया जाएगा इसके लिए अपने नए नियम जारी कर दिए हैं जो कि सारे क्रिकेट प्रेमियों को भी जानना जरूरी है।


इस लेख मे ICC के इन्हीं नए नियमों की चर्चा की गई है जो कि सुपर-12 ग्रुप मैचों से अलग हैं। अब बीच मैच मे बारिश हो गई तो क्या होगा ? या बारिश में पूरा मैच ही धुल जाए तो क्या होगा ? इन सब सवालों का जवाब जानने के लिए लेख के साथ अंत तक बने रहें।


रिजर्व डे का इस्तेमाल होगा


अगर बारिश के कारण सेमीफाइनल या फाइनल मुकाबला नियत तारीख में नही हो पाता है तो इसे रिजर्व डे में खेला जाएगा।


और यदि इन मैचों के बीच मे बारिश आ गई और खेल पूरा नही हो पाता है तो खेल जहां से रुकेगा रिजर्व डे मे वहीं से शुरू होगा मैच को नए सिरे से नही शुरू किया जाएगा जैसे कि बैटिंग करने वाली टीम 10 ओवर खेल चुकी थी और बारिश शुरू हो गई जिससे मैच आगे नही बढ़ पाया तो रिजर्व डे वाले दिन मैच उसी से आगे ग्यारहवें ओवर से शुरू किया जाएगा।


वहीं सुपर-12 ग्रुप लेबल मैचों में रिजर्व डे की कोई व्यवस्था नही थी जिसका खामियाजा भी कुछ टीमों को भुगतना पड़ा है।


प्रति पारी 10 ओवर का खेल होना जरूरी


ICC द्वारा सेमीफाइनल और फाइनल के लिए जारी गाइड लाइन के मुताबिक ये मुकाबले कम से कम दस-दस ओवर के होने जरूरी हैं। मतलब कि बारिश के कारण यदि मैच देर से भी शुरू होता है तब भी कम से कम 10-10 ओवर का मैच जरूर खेला जाएगा।


जबकि सामान्य टी-20 मैचों मे कम से कम पांच-पांच ओवर का मैच होना जरूरी होता है।


मैच रद्द होने पर क्या होगा ?


अगर सेमीफाइनल मुकाबले के रिजर्व डे में भी बारिश खलल पैदा कर दे और मैच रद्द करना पड़े तो ICC के नियम के मुताबिक ऐसी स्थिति में सुपर-12 ग्रुप मुकाबलों मे किया गया प्रदर्शन काम आएगा। इस स्थिति मे वह टीम फाइनल में पहुंच जाएगी जो अपने ग्रुप से नंबर वन बनकर सेमीफाइनल खेलने आई होगी।


जैसे कि अगर टीम इंडिया सुपर-12 ग्रुप-2 में टॉप पर रहते हुए सेमीफाइनल में जाती है और यह सेमीफाइनल मुकाबला बारिश की वजह से रद्द हो जाता है तो टीम इंडिया स्वतः फाइनल मे पहुंच जाएगी क्योंकि इंडिया का मुकाबला ग्रुप-1 की नंबर-2 की टीम से हो रहा होगा।


t-20-worldcup-final-new-rules


वहीं अगर फाइनल मैच रिजर्व डे में भी बारिश की वजह से धुल जाता है तो फिर दोनो टीमों को संयुक्तरुप से विजेता घोषित कर दिया जाएगा।


सेमीफाइनल मुकाबला टाई होने पर क्या होगा ?


यदि सेमीफाइनल मुकाबला बराबरी पर छूटता है तो सुपर ओवर द्वारा विजेता चुना जाएगा और यदि सुपर ओवर भी टाई होता है तो फिर एक और सुपर ओवर होगा। जब तक निर्णय नही निकलता है तब तक यह सिलसिला जारी रहेगा।


2019 वर्डकप में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया फाइनल मुकाबला टाई रहा था उसके बाद खेला गया सुपर ओवर भी टाई हो गया था, तब इंग्लैंड को इस आधार पर विजेता घोषित किया गया था कि इंग्लैंड ने उस मैच में ज्यादा बॉउंड्री ( चौके और छक्के ) लगाए थे। उस समय ICC के इस निर्णय की काफी आलोचना भी हुई थी।


ICC ने इस मैच के बाद ही नियमों में बदलाव करते हुए यह निर्णय लिया कि फाइनल मुकाबला टाई होने की स्थिति मे जब तक विजेता निकल कर सामने नही आता है तब तक एक के बाद एक सुपर ओवर खेला जाता रहेगा।


[T20 World Cup 2022] | पत्नी के प्यार ने सूर्यकुमार यादव को बनाया स्टार बल्लेबाज

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने