भूख ना लगना के घरेलू नुस्खे

अरुचि का इलाज-Anorexia Treatment in Hindi

जब हमारे अमाशय में खराबी हो जाती है या पाचन तंत्र ठीक से कार्य नहीं करता है तो अरुचि की समस्या हो जाती है जिससे भूख नहीं लगती और कुछ खाने का मन भी नहीं करता है। 
जब इस समस्या को बहुत अधिक दिन हो जाते हैं तो भूख लगनी ही बंद हो जाती है। ऐसे समय में रोगी को चाहे कितना भी अच्छा और पौष्टिक खाना दे दिया जाए पर उसका उसे खाने का मन ही नहीं करता। इसी भावना को भूख न लगना या अरुचि कहते हैं।


1. नींबू के सेवन से इलाज :


अरुचि कि वजह से लोग खाना नहीं खाते हैं जिसकी वजह से उन्हें भूख लगना बंद हो जाती है और वे मरने कि हालत में पहुँच जाते हैं। ऐसे में रोगी को नींबू का सेवन करना चाहिए क्योंकि नींबू खट्टा होता है और यह खट्टी-खट्टी डकारों को आने से रोकता है। 

आप नींबू को दो हिस्सों में काट लें। नींबू को काटने के बाद थोडा सा काला नमक लें और काले नमक को नींबू पर छिड़ककर उसे चाटें। नींबू के रस को चाटने से भूख न लगने कि बीमारी ठीक हो जाती है।


2. संतरे के सेवन से इलाज :

जिन लोगों को भूख न लगने कि बीमारी होती है उन्हें संतरे का सेवन करना चाहिए। अगर आपको अरुचि कि समस्या है तो आप एक गिलास संतरे का रस लें और इसमें नमक और पिसि हुई काली मिर्च मिला लें और पी लें। ऐसा करने से भूख न लगने कि समस्या ठीक हो जाती है।


3. लस्सी के सेवन से इलाज :


अगर आप अरुचि से ग्रस्त हैं तो आप एक गिलास में लस्सी लें, अब इसमें थोडा सा सेंधा नमक, सरसों के दाने, भुना हुआ जीरा और हींग मिलकर रोज सेवन करें। ऐसा करने से भूख न लगने कि समस्या ठीक हो जाएगी और पाचन तंत्र से जुड़े हुए रोगों से भी छुटकारा मिलेगा।


4. अनार के सेवन से इलाज :

अरुचि कि समस्या को कम करने के लिए आप अनार के जूस में शहद को काला नमक मिलकर पी सकते हैं। इस रस को पिने से अरुचि कि समस्या खत्म हो जाएगी और रोगी को खुलकर भूख लगने लगेगी।


5. करेले के सेवन से इलाज :


जिन लोगों को पेट से संबंधित समस्याएं होती हैं उनके लिए करेले का सेवन बहुत अधिक फायदेमंद होता है क्योंकि करेले में ऐसे बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो पेट कि समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। अरुचि से ग्रस्त व्यक्ति को 7 दिन तक करेले कि सब्जी खिलाने से पाचन कि समस्याएं दूर होती हैं और भूख भी बढती है।


6. गाय के घी के सेवन से इलाज :


जिन लोगों को खाने में रूचि नहीं होती है उन्हें गाय के घी को सोंठ के चूर्ण में मिलाकर सेवन करना चाहिए इससे आपकी खाने के प्रति रूचि बढती है और साथ-ही-साथ आपका पाचन तंत्र भी ठीक रहता है। गाय के घी का सेवन पेट कि समस्याओं को दूर करने में हमारी मदद करता है।


7. मूली के सेवन से इलाज :


अगर आप अरुचि से ग्रस्त हैं तो आप एक मूली लें। अब इस मूली को बिच में से काटकर तो टुकड़े कर लें। अब इन टुकड़ों पर नमक और काली मिर्च का पाउडर डालकर खाएं। ऐसा करने से पाचन क्रिया तेज हो जाएगी और भूख लगनी भी तेज हो जाएगी।


8. गाजर के सेवन से इलाज :


जिन लोगों को भूख न लगने कि समस्या होती है उन्हें गाजर का रस पीना चाहिए क्योंकि गाजर का सेवन खून बढ़ाने में मदद करता है। आप गाजर के रस में पिसि हुई काली मिर्च और नमक मिलाकर सेवन करें। इस रस के सेवन से अरुचि कि समस्या खत्म हो जाती है।

No comments:

Post a Comment