अम्लपित्त या पेट में जलन (एसिडिटी) के घरेलू नुस्खे

अम्लपित्त का इलाज-Acidity Problem Solution In Hindi


हमारे पेट में जाने वाले भोजन को पचाने के लिए हमारे पेट में एसिड या अम्ल बनता है जो भोजन को पचाता है पर कई बार इस एसिड की मात्रा भोजन की मात्रा से ज्यादा हो जाती है। जिसकी वजह से एसिडिटी या अम्लपित्त जैसी समस्या हो जाती है।


जो लोग मसालेदार या तेलयुक्त भोजन करते हैं उन्हें अक्सर एसिडिटी की समस्या होती है। इस तरह का खाना पचने में मुश्किल होता है और ज्यादा अम्ल उत्पन्न करने की प्रेरणा देता है और ज्यादा अम्ल की वजह से एसिडिटी की समस्या हो जाती है।

1. जीरे के सेवन से उपचार :


जिन लोगों को एसिडिटी की समस्या होती है उन्हें एक गिलास पानी में जीरे को डालकर उबाल लें और ठंडा होने के बाद इसका सेवन करे। इसके सेवन से अम्लपित्त की समस्या ठीक हो जाएगी क्योंकि जीरे से सलाइवा होता है जिससे पाचन तंत्र और गैस की समस्या के ठीक होने के साथ-साथ तेजाब को भी नष्ट कर देता है इसलिए अगर किसी को एसिडिटी की समस्या हो तो उन्हें जीरे का सेवन करना चाहिए।

2. इलायची के सेवन से उपचार :



अगर किसी को एसिडिटी की समस्या है तो आप इलायची का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इलायची में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो एसिडिटी को रोकने के साथ-साथ पाचन तंत्र को ठीक करने में मदद करता है। आप इलायची के पाउडर को एक गिलास पानी में डालकर उबालें और ठंडा होने पर इसका सेवन करें।

3. नींबू के सेवन से उपचार :


अगर आपको अम्लपित्त की समस्या है तो आप एक गिलास पानी में नींबू का रस और बेकिंग सोडा मिलाकर खाली पेट पीने से अम्लपित्त की समस्या भी ठीक हो सकती है। आप चाहे तो इस मिश्रण को गर्म पानी के साथ भी पी सकते हैं।

4. काली मिर्च के सेवन से उपचार :



आप काली मिर्च को दूध में मिलाकर पी सकते हैं क्योंकि इसके सेवन से अम्लपित्त या एसिडिटी की समस्या भी ठीक हो जाती है।

5. तुलसी के सेवन से उपचार :


अगर आपको ऐसा लगता है कि आपको अम्लपित्त या एसिडिटी की समस्या है तो आप तुलसी के पत्तों को खा सकते हैं या पानी में उबालकर पी सकते हैं इससे आपको एसिडिटी या अम्लपित्त की समस्या नहीं होगी।

6. गुड के सेवन से उपचार :


अगर आपके पेट में अम्ल ज्यादा बनता है तो आप गुड का सेवन कर सकते हैं। गुड का सेवन हमारी पाचन क्रिया को बढ़ा देता है और पाचन तंत्र को ज्यादा क्षारीय बना देता है जिससे एसिडिटी की समस्या भी ठीक हो सकती है।

7. दालचीनी के सेवन से उपचार :



अगर आप पेट की समस्याओं से ग्रस्त हैं तो आप दालचीनी का सेवन कर सकते हैं। आप दालचीनी को चाय के साथ या एसिडिटी को कम करने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

8. नारियल पानी के सेवन से उपचार :


अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो आप नारियल पानी का सेवन कर सकते हैं क्योंकि नारियल पानी हमारे शरीर के पीएच एसिडिक स्तर को एकलाइन में बदल देता है और आपके पेट में म्यूक्स का निर्माण करने में मदद करता है और पेट में अधिक एसिड को बनने से रोकता है।

9. अदरक के सेवन से उपचार :



आगर आपको पेट से संबंधित कोई समस्या है तो आप अदरक का सेवन कर सकते हैं क्योंकि अदरक में दो प्रकार के केमिकल पाए जाते हैं जो पेट की सफाई करने में मदद करते हैं और पाचन तंत्र को भी ठीक रखते हैं।

10. सौंफ के सेवन से उपचार :



अक्सर देखा जाता है कि लोग खाना खाने के बाद सौंफ खाते हैं क्योंकि इसे एक तरह से माउथ फ्रेशनर की तरह प्रयोग किया जाता है लेकिन इसे एसिडिटी को कम करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

No comments:

Post a Comment