तरबूज के फायदे और नुकसान-Watermelon Benefits And Side Effects In Hindi

तरबूज (Watermelon In Hindi) :

तरबूज की उत्पत्ति बेल के रूप में हुई। रेतीली भूमि में तरबूज की खेती की जाती है। यह एक ऐसा फल है जिसे संपूर्ण भारत में उगाया जाता है। उत्तर भारत के लोग इस फल को ज्यादा महत्व देते हैं।

तरबूज के बारे में अधिक जानें : तरबूज (Tarbooj)

हजारों सालों तक प्राचीन मिस्त्र के लोगों के द्वारा तरबूज की खेती किए जाने के सबूत मिले हैं। तरबूज का रंग बाहर से हरा और काली धारी का होता है लेकिन अंदर से लाल रंग का होता है और इसके बिज सफेद, लाल और काले रंग के होते हैं।

तरबूज के फायदे (Watermelon Benefits In Hindi) :

1. वजन घटाने में फायदेमंद : तरबूज में पानी के साथ-साथ फाइबर की प्रचूर मात्रा पाई जाती है जिससे पेट देर तक संतृप्त भी रहता है और कमजोरी भी महसूस नहीं होती।

2. अस्थमा की रोकथाम में : जो लोग तरबूज का नियमित रूप से सेवन करते हैं उन लोगों को अस्थमा बहुत कम होता है। तरबूज में उच्च पोषक तत्वों का समावेश होता है जो अस्थमा को रोकने में मदद करता है।

3. शरीर के विकास में फायदेमंद : रबूज के बीज में Arginine, Lysine, Tryptophan, Glutamic नामक एमिनो एसिड होते हैं। Lysine एमिनो एसिड्स शरीर को कैल्शियम तत्व सोखने में मदद करते हैं। कैल्शियम और कनेक्टिव टिश्यू बनाने का जरुरी काम करता है।

4. ब्लड प्रेशर में फायदेमंद : तरबूज में 90% पानी होने से यह शरीर की गर्मी को कम करता है। तरबूज में लाइकोपीन उच्च मात्रा में होता है जो दिल की बीमारी से बचाव में मदद कर सकता है।

5. शरीर में पानी के लिए : यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है। तरबूज में 90% पानी होने की वजह से यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है।

6. पेशाब में फायदेमंद : तरबूज के बीजों को गर्म पानी में पीसकर छानकर पी लें। इससे पेशाब करने पर होने वाले कष्ट दूर हो जाते हैं। इसके सेवन से पथरी गलकर पेशाब के द्वारा बाहर निकल जाती है।

7. ह्रदय में फायदेमंद : तरबूज में कई बायोएक्टिव कम्पाउंड जैसे सिट्रुल्लिन नाम का एमिनो एसिड होता है जो मेटाबॉलाइज्ड होकर आर्जनीन में बदल जाता है।

8. डायबिटीज में फायदेमंद : डायबिटिक मरीजों को एक मुट्ठी तरबूज के बीज एक लीटर पानी में डालकर, ढ़ककर 15 मिनट तक उबालने चाहिएं। डायबिटीज उपचार में इस पानी को हर रोज चाय की तरह पीना चाहिए।

9. कैंसर में फायदेमंद : तरबूज एंटीऑक्सीडेंटस का एक उत्कृष्ट स्त्रोत होने के साथ-साथ विटामिन सी का भी अच्छा स्त्रोत है। तरबूज कैंसर बनाने वाले कणों के गठन को रोककर उससे निपटने में मदद करता है।

10. एंटीऑक्सीडेंट का भंडार : तरबूज विटामिन सी और लाइकोपीन, बीटा कैरोटीन, लुदिन जैसे फ्लेवोनोइडस का बहुत ही अच्छा स्त्रोत होता है। तरबूज का यह चमत्कारी गुण हमें संधिशोथ, ओस्टियोअर्थराइटिस, अस्थमा, स्ट्रोक, दिल के दौरे और दूसरी कई बीमारियों से बचाता है। यह प्रदूषण की वजह से होने वाले त्वचा के नुकसान पर भी रोक लगता है।

तरबूज के नुकसान (Side Effects Of Watermelon In Hindi) :

1. खाली पेट तरबूज खाना नुकसानदायक : सुबह खाली पेट तरबूज नहीं खाना चाहिए। खाना खाने के बाद तरबूज खाने से ही फायदा होता है।

2. तरबूज खाने के बाद कुछ भी खाना-पीना नुकसानदायक : तरबूज खाने के तुरंत बाद पानी, दूध, दही या कोई अन्य पेय पदार्थ नहीं पीना चाहिए।

3. दमा में नुकसानदायक : दमा के मरीजों को तरबूज का रस नहीं पीना चाहिए यह नुकसानदायक हो सकता है।

4. जुकाम में नुकसानदायक : जुकाम से पीड़ित होने वाले लोगों को तरबूज नहीं खाना चाहिए।

5. तरबूज के बाद चावल खाना नुकसानदायक : तरबूज खाने के दो-तीन घंटे बाद तक चावल नहीं खाने चाहिएं।

6. अधिक मात्रा में सेवन नुकसानदायक : जो लोग अधिक मात्रा में तरबूज का सेवन करते हैं उनको नसों, मांसपेशियों और गुर्दे जैसी समस्याएं हो सकती हैं। तरबूज को बहुत अधिक मात्र में खाने से पुरुषों में नपुंसकता और स्तंभन दोष जैसे साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

7. गर्भावस्था के दौरान तरबूज खाना नुकसानदायक : गर्भावस्था के दौरान तरबूज का बड़ी मात्रा में सेवन खून में शर्करा के स्तर को बढ़ा देता है जिससे गर्भवती महिलाओं को गर्भावधि मधुमेह की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को कुछ महीनों के लिए तरबूज खाना बंद कर देना चाहिए।

8. तरबूज से ह्रदय की समस्याएं : तरबूज में पोटेशियम की अधिक मात्रा होती है इसलिए इसकी अत्यधिक खपत से ह्रदय की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

9. मधुमेह में नुकसानदायक : तरबूज प्राकृतिक चीनी से भरा हुआ है जो शरीर शर्करा के स्तर को बड़ा सकता है इसी वजह से मधुमेह से पीड़ित जो लोग इंसुलिन ले रहे हैं उन्हें तरबूज के सेवन से बचना चाहिए।

No comments:

Post a Comment