हनुमान फल के फायदे और नुकसान-Hanuman Phal Benefits And Side Effects In Hindi

हनुमान फल (Hanuman Phal) :

हनुमान फल को लक्षमण फल, ग्रिविओला के नामों से भी जाना जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम एनोना मुरिकाटा है। हनुमान फल मेक्सिको, केरिबियन और दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। हनुमान फल का स्वाद स्ट्रोबेरी और अनानास का एक बहुत ही स्वादिष्ट संयोजन है और दुनिया के इन हिस्सों में बहुत लोकप्रिय हैं।

हनुमान फल के बारे में अधिक जानें : हनुमान फल (Hanuman Phal)

हनुमान फल के मुलायम पल्प और फाइबर का उपयोग बहुत से पेय पदार्थ, डेसर्ट, शक्कर और कैंडी बनाने के लिए और दुनिया के कई हिस्सों में चिकित्सा उपचारों में भी किया जाता है।

हनुमान फल के फायदे (Benefits of Hanuman Phal) :

1. जठरांत्र प्रणाली के लिए फायदेमंद : हनुमान फल में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाई जाती है जो बहुत से प्राकृतिक उपचारों के लिए बहुत अधिक आवश्यक होती है। यह हमारे शरीर से विषक्त पदार्थों को निकालने में भी हमारी मदद करता है। 

अगर आप अपनी जठरांत्र प्रणाली को चेक करना चाहते है कि वह ठीक से कार्य कर रही है या नहीं तो आप इसके फल की पत्तियों की चाय बनाकर पीजिए। ऐसा करने से आपका पेट साफ भी हो जाएगा और आपकी जठरांत्र प्रणाली के सुचारू रूप से कार्य करने के बारे में भी पता चल जाएगा।

2. गठिया में फायदेमंद : जिन लोगों को जोड़ों में दर्द या सुजन होती है उनके लिए यह बहुत ही फायदेमंद है। आप हनुमान फल का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं क्योंकि ऐसा करने से दर्द कम हो जाता है और जोड़ों में लचीलापन भी आता है।

3. सर्दी में फायदेमंद : हनुमान फल का सेवन करने से सुजन कम होती है, वायुमार्ग की सफाई होती है, रक्त संकुचन से राहत मिलती है और जलन भी कम हो जाती है। हनुमान फल के सेवन से आप कफ और बलगम की समस्या को भी दूर कर सकते हैं।

4. नींद में फायदेमंद : हनुमान फल हमारे शरीर ओ तनाव से मुक्ति दिलाने में मदद करता है जिससे हम नींद भी अच्छी आती है। अगर आपको भी नींद न आने की समस्या है तो आप हनुमान फल की चाय का सेवन कर सकते हैं।

5. त्वचा के लिए फायदेमंद : हनुमान फल के बीजों को लेकर उनका पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को आप अपने चेहरे पर लगाकर झुर्रियों और दाग-धब्बों से छुटकारा पा सकते हैं।

6. कैंसर के लिए फायदेमंद :  हनुमान फल में एसिटोजिनीन, क्विनॉलोन और एल्कोलॉइड नाम के एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कैंसर होने की संभावना को कम करते हैं और कैंसर को भी रोकते हैं।

7. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए फायदेमंद : इसमें विटामिन सी पाया जाता है जो हमारे प्रतिरक्षा तंत्र के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। इस फल के सेवन से सफेद रक्त कोशिकाएं का उत्पादन उत्तेजित होता है। यह बहुत लंबे समय से चलने वाली बिमारियों को रोकने में भी मदद करता है।

8. घाव भरने में फायदेमंद : जिन लोगों को घाव की वजह से दर्द होता है उस दर्द को बेअसर करने के लिए हनुमान फल पेन किलर का काम करता है। इसमें सुजन को कम करने के गुण होते हैं जो हर तरह के दर्द के लिए बहुत ही अच्छा होता है।

हनुमान फल के नुकसान (Side Effects Of Hanuman Phal) :

1. निम्न रक्तचाप वालों के लिए नुकसानदायक : जिन लोगों को निम्न रक्तचाप होता है उनके लिए इसका सेवन हानिकारक भी हो सकता है इसलिए उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए।

2. गर्भवती महिलाओं के लिए : जो महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए क्योंकि क्योंकि
इसके सेवन से गर्भपात भी हो सकता है। इसका सेवन तंत्रिका संबंधी विकारों के विकास को पैदा कर सकता है।

3. ह्रदय के लिए : जब इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है तो यह हमारी ह्रदय प्रणाली को भी प्रभावित कर सकता है। जो लोग ह्रदय की समस्याओं से पीड़ित हैं उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए।

4. अधिक समय तक सेवन : जब इसका अधिक लंबे समय तक सेवन किया जाता है तो यह शरीर में कवक और खमीर संक्रमण के विकास को जन्म दे सकता है।

5. अधिक मात्रा में सेवन नुकसानदायक : इस फल का अधिक मात्रा में सेवन करने से उलटी के साथ-साथ मतली के कारण भी पैदा हो सकते हैं।

No comments:

Post a Comment