चीकू (Chiku) के फायदे और नुकसान-Sapota Benefits And Side Effects In Hindi

चीकू (Sapota In Hindi) :

चीकू एक ऐसा फल है जो हर मौसम में मिलता है और खाने में भी बहुत स्वादिष्ट होता है। खाना खाने के बाद अगर चीकू को खाया जाए तो यह निश्चित है कि आपको फायदा होगा। चीकू का रंग बिलकुल आलू के जैसा होता है। चीकू के पेड़ पर एक साल में दो बार चीकू के फल लगते हैं।

चीकू के बारे में अधिक जानें : चीकू (Chikoo)

चीकू के फायदे (Benefits Of Sapota In Hindi) :

1. आँखों के लिए फायदेमंद : चीकू में विटामिन ए पाया जाता है जो हमारी आँखों की समस्याओं को दूर करने में लाभ देता है।

2. एनर्जी का स्त्रोत : चीकू में ग्लूकोज की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है जो शरीर को उर्जा देने में मदद करती है। जो लोग चीकू का सेवन करते हैं उनके लिए यह उर्जा का एक बहुत ही अच्छा स्त्रोत है।

3. एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंट : चीकू में टैनिन की बहुत ही अच्छी मात्रा पाई जाती है जिसकी वजह से चीकू को एक बहुत ही अच्छा एंटी इंफलेमेटरी एजेंट माना जाता है जो कब्ज, दस्त और एनीमिया से हमारी रक्षा करता है और चीकू के सेवन से आँतों की शक्ति को भी बढ़ाया जा सकता है।

4. कैंसर में फायदेमंद चीकू : चीकू में विटामिन ए, विटामिन बी, फाइबर और अन्य बहुत से ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे अंदर कैंसर को पनपने से रोकते हैं और उससे खत्म करने में हमारी मदद करते हैं।

5. हड्डियों के लिए फायदेमंद : अगर आप चीकू का सेवन करते हैं तो चीकू में उपस्थिति कैशियम, आयरन और फोस्फोरस की मात्रा आपकी हड्डियों को बढने और उन्हें मजबूती देने में बहुत मदद करता है।

6. गर्भावस्था में फायदेमंद : चीकू में कार्बोहाइड्रेट और अन्य बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं जो महिलाओं के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होते हैं। चीकू मतली और चक्कर जैसी समस्याओं को खत्म करता है।

7. बवासीर और घाव के लिए फायदेमंद : चीकू में हेमोस्टाटिक प्रोपर्टीज गुण होते हैं जो रक्त के नुकसान से भी बचाता है। आप चीकू के सेवन से आप बवासीर और घाव को भी ठीक से भर सकते हैं इसके लिए आप चीकू के बीज लें। अब इन बीजों को पीस लें और उसे काटने की जगह पर लगाने से आपको बहुत अधिक फायदा होगा।

8. दस्त में फायदेमंद चीकू : चीकू में कुछ ऐसे एंटी डाइरियल गुण पाए जाते हैं जो दस्त में बहुत लाभदायक होते हैं। आप चीकू को पानी में उबालकर काढ़ा बना लें। अब इस काढ़े को पिएं ऐसा करने से आपको दस्त आने बंद हो जाएंगे।

9. मस्तिष्क के लिए फायदेमंद : चीकू मस्तिष्क की तंत्रिकाओं को शांत और तनाव को कम करने में सहायता करता है। चीकू मस्तिष्क के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है क्योंकि यह नींद न आने, चिंता और अवसाद से पीड़ित व्यक्तियों को बहुत लाभ पहुंचाता है।

10. खांसी जुकाम में फायदेमंद : चीकू में ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो श्वसन तंत्र से कफ और बलगम को निकाल देता है और खांसी में बहुत अधिक राहत मिलती है।

11. दांतों के लिए फायदेमंद : जिन लोगों को अपने दांतों की कैविटी भरनी होती है उन्हें चीकू का सेवन करना चाहिए क्योंकि चीकू में लेटेक्स की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है जो दांत की कैविटी को भरने के लिए भी प्रयोग की जाता है।

12. जहरीले तत्वों के लिए फायदेमंद : जिन लोगों के शरीर में जहरीले तत्व पनपने लगते हैं उन्हें चीकू का सेवन करना चाहिए क्योंकि चीकू एक मूत्रवर्धक के रूप में कार्य करता है और आपके शरीर के सभी जहरीले पदार्थों को मूत्र त्याग के साथ शरीर से बाहर निकाल देता है।

13. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए फायदेमंद : चीकू में विटामिन ए और सी दोनों पाई जाती हैं जो हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनती है।

14. गुर्दे की पथरी में फायदेमंद : चीकू का सेवन करने से उनके गुर्दे की पथरी मूत्र के साथ मूत्रद्वार से निकल जाती है। चीकू के सेवन से सिर्फ गुर्दे की पथरी ही नहीं बल्कि गुर्दे के सभी रोग भी समाप्त हो जाते हैं।

15. बालों के लिए फायदेमंद : चीकू में ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपकी बालों की सभी समस्याओं को दूर रखने की क्षमता रखते हैं।

चीकू के नुकसान (Sides Effect Of Sapota In Hindi) :

1. अधिक मात्रा में प्रयोग नुकसानदायक : जितना हो सके चीकू के अधिक सेवन से बचे क्योंकि चीकू में बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी पाई जाती है। यह गरिष्ठ खाद्य पदार्थों के रूप में प्रयोग होता है इसलिए इसके सेवन से वजन भी बढ़ जाता है।

2. दस्त जैसी समस्या का उत्पन्न होना : जब आप चीकू का बहुत अधिक सेवन करते हैं तो इससे आपको पेट दर्द के साथ-साथ दस्त और अपच जैसी परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है।

3. कच्चे चीकू नुकसानदायक : अगर आप कच्चे या फिर अधपके चीकू का सेवन क्कारते हैं तो इससे आपको खांसी और जुकाम होने का खतरा बना रहता है।

No comments:

Post a Comment