अंजीर के फायदे और नुकसान- Figs Benefits & Side Effects In Hindi

अंजीर (Figs In Hindi) :

अंजीर का वृक्ष भारत के मुख्यतः सभी प्रान्तों में पाया जाता है अंजीर को अंग्रेजी में Fig के नाम से भी जाना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार अंजीर गुणों से भरपूर फल है। अगर अंजीर का सेवन किया जाए तो ये न जाने हमारे कितने रोगों को ठीक करता है। अंजीर (अंग्रेजी नाम फ़िग, वानस्पतिक नाम: "फ़िकस कैरिका", प्रजाति फ़िकस, जाति कैरिका, कुल मोरेसी) एक वृक्ष का फल है जो पक जाने पर गिर जाता है।

अंजीर के बारे में अधिक जानें : अंजीर (Anjeer)

पके फल को लोग खाते हैं। सुखाया फल बिकता है।सूखे फल में चीनी की मात्रा लगभग ६२ प्रतिशत तथा ताजे पके फल में २२ प्रतिशत होती है। इसमें कैल्सियम तथा विटामिन 'ए' और 'बी' काफी मात्रा में पाए जाते हैं। इसके खाने से कोष्ठबद्धता (कब्जियत) दूर होती है। इसलिए इसको एक आयुर्वेदिक ओषधि कहा जाता है।

अंजीर के फायदे(Benefits of figs in hindi) :

1. शारीरिक दुर्बलता में अंजीर : सूखे हुए अंजीर को दूध में अच्छे से पका कर सेवन करें ऐसा करने से हमारे शरीर की दुर्बलता खत्म होकर शरीर बलशाली बनाता हैं।

2. दिल की बीमारियों में फायदेमंद : सूखे अंजीर में ओमेगा 3 और फिनॉल के साथ-साथ ओमेगा 6 फैटी एसिड्स भी होते हैं। जो दिल की बीमारियों से रोकथाम करते हैं।

3. हड्डियों में फायदेमंद : अंजीर में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है और कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाने में बहुत ही सहायक है।

4. कब्ज और गैस में फायदेमंद : अंजीर में फाइबर उच्च मात्रा में होता है जो गैस और कब्ज की समस्या से निजात दिलाता है।

5. बालों के लिए अंजीर : अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट विटामिन c और विटामिन E होता है जो बालों को झड़ने से रोकता है और बालों को सुन्दर बनाता है।

6. कैंसर रोग में फायदेमंद : अंजीर के सेवन करने से कैंसर रोग में लाभ मिलता है क्यूंकि इसमें Antioxidant-rich होता है जो cellular DNA damage  होने से भी बचाता है जो कि  free radicals की वजह से होती है।

7. उच्च रक्तचाप में फायदेमंद : अंजीर के सेवन से आपकी रक्तचाप को भी नियमित करने में मदद मिलती है।

8. आँखों की रोशनी के लिए अंजीर : अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन A भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो की आँखो की रोशनी को बढ़ाते है।

9. कोलेस्ट्रॉल कम करने में फायदेमंद : अंजीर में पेक्टिन नाम का एक सॉल्युबल fiber पाया जाता है जोकि बढे हुए कोलेस्टरॉल को कम करने में सहायक होता है।

10. यौन रोगों में फायदेमंद : यौन शक्ति बढाने के लिए 3-4 अंजीर रात को दूध में भिगो दें और फिर सुबह इनका सेवन करें ऐसा करने से यौन शक्ति बढ़ने के साथ-साथ प्रजन स्वास्थ्य को भी बढ़ावा मिलता है।

11. ब्लड सुगर के लिए :- अंजीर में पौटेशियम भरपूर मात्रा में होने के कारण ये यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है।

12. चमकदार त्वचा के लिए :- इस फल को खाने से त्वचा में काफी हद तक निखार आता है क्यूंकि अंजीर में moisturizing गुण होते हैं स्किन moist और चमकदार बनाते हैं।

13. मस्से की समस्या के लिए :- मस्से की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अंजीर के कोमल तने का जूस निकल लें और जिस जगह पर मस्सा है उस जगह पर लगायें जल्द ही दिनों मैं लाभ मिलेगा।

14. पाचन तन्त्र मजबूत :- अंजीर में बहुत मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन तन्त्र को मजबूत बनाता है साथ ही 3 पीस अंजीर में इतनी मात्र में फाइबर होता है कि वो आपके दिन की जरुरत का करीब बीस प्रतिशत हिस्सा होता है।

15. बजन कम करे :- सूखे अंजीरों का सेवन करने से मोटापा दूर होता है क्यंकि सूखे अंजीरों में कम केलोरी होती है इसलिए मोटापे के लिए परेशान होने वालों के लिए अंजीर खाना सही रहता है।

अंजीर के नुकसान (Side Effects of Figs In Hindi) :

1. दांतों का सड़ना :- अंजीर के अधिक सेवन से दांत सड सकते हैं क्यूंकि इसमें सुगर की मात्रा थोड़ी जादा होती है जिसकी वजह से दांत साद जाते हैं या दांतों में कीड़े लग जाते है।

2. डायरिया रोग :- अंजीर के अधिकतम सेवन करने से डायरिया हो सकता है। जिससे आपका पेट ख़राब हो सकता है इसलिए अंजीर का सेवन उचित मात्रा में ही करें।

3. गर्मी हो सकती है :- अंजीर के अधिक सेवन से शरीर में गर्मी बन सकती है क्यूंकि अंजीर फल की तासीर बहुत गर्म होती है जिसकी वजह से गुदा यानि योनी से रक्त स्त्राव हो सकता है।

4. लीवर में परेशानी :- इसके अधिक सेवन से लीवर में परशानी हो सकती है क्यूंकि इसके बीज आंतो में रूकावट पैदा कर सकते हैं ऐसा में आपको सीधे अपने किसी निजी डाक्टर से सम्पर्क करें।

5. एलर्जी का होना :- किसी किसी व्यक्ति को अंजीर से एलर्जी होती है तो वो व्यक्ति अंजीर का सेवन न करें अगर आप पहली बार अंजीर का सेवन कर रहे हैं तो कम मात्रा में करें या डॉ से परामर्श लें।

6. पाचन प्रणाली में ब्लीडिंग :- अगर आप जादा अंजीरोंका सेवन करते हैं तो आपको पाचन प्रणाली में ब्लीडिंग हो सकती है इसलिए उचित मात्रा में अंजीरों का सेवन करें।

7.  पेट में दर्द :- अंजीर का अधिक सेवन पेट पर भारी हो सकता है जिससे पेट दर्द हो सकता है। इसलिए अंजीर का सेवन हमेशा उचित मात्रा में ही करना चहिये।

No comments:

Post a Comment